Home Poem छोटी सी नाजुक कली और फिर गुलाब बन गयी

छोटी सी नाजुक कली और फिर गुलाब बन गयी

80
0
SHARE

किसी का सवाल बन गयी
तो किसी का खयाल बन गयी
छोटी सी नाजुक कली
और फिर गुलाब बन गयी

निखरता शबाब बन गयी
ग़ज़ल की किताब बन गयी
छोटी सी नाजुक कली
और फिर गुलाब बन गयी

आँगन की गुड़िया अब देखो
बड़ी सी मिसाल बन गयी
छोटी सी नाजुक कली
और फिर गुलाब बन गयी

घर की नवाब बन गयी
आशिक़ का ख्वाब बन गयी
हसीन महताब बन गयी
छोटी सी नाजुक कली
और फिर गुलाब बन गयी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here